चींटी रानी

चींटी रानी- चींटी रानी
भोली भाली बड़ी सयानी
छोटे-छोटे कदमों वाली
रंग-रूप में छोटी-काली
चलती जाती मिलजुल कर
बिना डरे, होके बेफिकर
चलना ही उसकी कहानी है
चलने से ही तो ज़िंदगानी है

केशव मोहन पाण्डेय

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *